आओ मिलकर दीप जलाएं

आओ मिलकर दीप जलाएं
अँधेरा धरा से दूर भगाएं
रह न जाय अँधेरा कहीं घर का कोई सूना कोना
सदा ऐसा कोई दीप जलाते रहना
हर घर -आँगन में रंगोली सजाएं
आओ मिलकर दीप जलाएं.

हर दिन जीते अपनों के लिए
कभी दूसरों के लिए भी जी कर देखें
हर दिन अपने लिए रोशनी तलाशें
एक दिन दीप सा रोशन होकर देखें
दीप सा हरदम उजियारा फैलाएं
आओ मिलकर दीप जलाएं.

भेदभाव, ऊँच -नीच की दीवार ढहाकर
आपस में सब मिलजुल पग बढायें
पर सेवा का संकल्प लेकर मन में
जहाँ से नफरत की दीवार ढहायें
सर्वहित संकल्प का थाल सजाएँ
आओ मिलकर दीप जलाएं
अँधेरा धरा से दूर भगाएं.


Kavita Rawat

SHARE THIS

Author:

Previous Post
Next Post
October 16, 2009 at 7:04 PM

कभी दूसरों के लिए भी जी कर देखें
हर दिन अपने लिए रोशनी तलाशें
एक दिन दीप सा रोशन होकर देखें
दीप सा हरदम उजियारा फैलाएं
आओ मिलकर दीप जलाएं


बहुत सुन्दर रचना
बहुत सारगर्भित सन्देश

दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं

आज की आवाज

Reply
avatar
October 16, 2009 at 7:54 PM

न्दर रचना से झिलमिलाता आपका ब्लॉग ............ बहूत सुन्दर रंग

आपको और आपके पूरे परिवार को दीपावली की मंगल कामनाएं .........

Reply
avatar
October 24, 2009 at 4:31 PM

जो दूसरोके काम आने की बात करते हैं वो मुझे बहुत अच्छे लगते हैं और खास कर बेटियां। बहुत सुन्दर लिखती हो। लिखती रहो मेरा आशीर्वाद है

Reply
avatar
November 4, 2009 at 7:47 PM

आओ मिलकर दीप जलाएं
अँधेरा धरा से दूर भगाएं
रह न जाय अँधेरा कहीं घर का कोई सूना कोना
सदा ऐसा कोई दीप जलाते रहना
हर घर -आँगन में रंगोली सजा
kavitaji
bahut badiya
mein bhi jalata hun deep
sayad bhage ye andhiyara ...wah

Reply
avatar
October 22, 2014 at 5:35 PM

आपको दीपावली की सपरिवार हार्दिक शुभकामनाएँ !

कल 23/अक्तूबर/2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
धन्यवाद !

Reply
avatar
October 23, 2014 at 10:46 AM

Very Nice Post...
Happy Diwali

Reply
avatar
October 23, 2014 at 2:39 PM

दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं!

Reply
avatar
November 8, 2015 at 11:38 AM

आपकी इस पोस्ट की चर्चा कल 9/11/2015 को हिंदी चर्चा ब्लॉग पर की जाएगी ।
चर्चा मे आपका स्वागत है ।

Reply
avatar