स्वस्थ जीवन जीने का कला और विज्ञान

हमारे भारतीय चिन्तन में शरीर को धर्म का पहला साधन माना गया है। महाकवि कालिदास की सूक्ति "शरीरमाद्यं खलु धर्मसाधनम्"  और इस हेतु सदैव स्वस्थ रहने को कर्तव्य निरूपित किया है। "धर्मार्थ काममोक्षाणाम् आरोग्यम् मूल मुत्तमम्।" इसीलिए अच्छा स्वास्थ्य महा-वरदान है। इसकी  रक्षा करना प्रत्येक मनुष्य का दायित्व है।  शरीर का स्वस्थ रहना परम आवश्यक है। यदि शरीर स्वस्थ नहीं हो, तो मन स्वस्थ नहीं रह सकता, मन स्वस्थ नहीं तो विचार स्वस्थ नहीं होते। उर्दू में एक सूक्ति है- 'तन्दुरूस्ती हजार न्यामत' अर्थात स्वास्थ्य हजार अन्य अच्छे भोगों से बढ़कर है। अंग्रेजी में भी कहावत है-  'Health is Wealth' अर्थात् स्वास्थ्य ही धन है। तुलसीदास जी ने इसे और सरल शब्दों में व्यक्त किया है- "बड़ भाग मानुष तन पावा, सुर दुर्लभ सब ग्रंथिन्ह गावा।" अर्थात् अर्थात् बड़े भाग से मनुष्य जीवन मिलता है, सभी ग्रंथ कहते हैं कि यह देवताओं को भी दुर्लभ है। इसीलिए योगेश्वर कृष्ण ने भी अपने प्रिय शिष्य उद्धव को शरीर के विषय में कहा कि मनुष्य शरीर दुर्लभ है तथा पुण्य कर्मों से प्राप्त होता है।  मनुष्य के रूप में जन्म लेना वास्तव में भाग्य की बात है। स्वस्थ जीवन शैली की कला और विज्ञान के साथ ही भारतीय दर्शन "परहित सरिस धर्म नहिं भाई" सार्थक जीवन का भी संदेश हमें देता है।           
          वास्तव में कला और विज्ञान परस्पर विरोधी नहीं हैं। कला विज्ञान को भी कलात्मक रूप दे सकती है, वहीं विज्ञान कला को तर्कों के आधार पर वैज्ञानिक रूप प्रदान कर सकता है। व्यवहार में कहा जाता है कि कुशल सर्जन कितने कलात्मक रूप से सर्जरी करते हैं, वहीं दूसरी ओर नाड़ी परीक्षा करके चिकित्सा करने के विषय को वैज्ञानिक रूप से कसौटी पर कसने का प्रयास करते हैं।  स्वस्थ जीवन शैली के मूल प्रतिपाद्य विषय पर विचार करें तो स्वस्थ रहने के लिए आयुर्वेद और योग के नियम तथा निर्देशों को व्यवहार में लाना एक कला है जो परिवार में संस्कारों के रूप में प्राप्त होती है और जो धीरे-धीरे व्यवहार में आकर जीवन शैली बन जाती है। जैसे कि सूर्योदय के पूर्व जागरण, स्नान-ध्यान, व्यायाम-योग, विश्राम, जल्दी सोना, मौसम के अनुसार आहार-विहार आदि-आदि। 
            आयुर्वेद और योग व्यक्तिगत के साथ सामाजिक, संवेदनात्मक, भावनात्मक तथा सुचितापूर्ण जीवन जीने के विचार भी प्रस्तुत करता है, जो कि स्वस्थ जीवन शैली के अभिन्न अंग हैं।  हमारे मनीषियों ने स्वस्थ जीवन जीने के लिए मात्र संहिता ग्रंथों या शास्त्रों की रचना ही नहीं की बल्कि व्रत, पर्व और त्यौहार आदि के माध्यम से स्वस्थ जीवन के सूत्रों को जन-जन में व्याप्त किया। उपवास, विशेष प्रसाद तथा व्रत, त्यौहार आदि के विशेष आहार की योजना व ऋतु एवं प्रकृति को ध्यान में रखकर की।
हमारे देश के बहुलतावादी समाज में स्वास्थ्य व्यवस्थायें भी बहुआयामी रही। विभिन्न लोक स्वास्थ्य परम्परायें देश के अलग-अलग हिस्सों में विकसित हुई। हड्डी बिठाने, दाई, जड़ी-बूटी के जानकार, वैदू, भोपा आदि। देशज ज्ञान की यह कला मात्र उपचार तक सीमित नहीं है, बल्कि इसमें स्वास्थ्य रक्षा के सूत्र भी निहित हैं। ये विभिन्न लोक परम्परायें मात्र घरेलू उपचार तक सीमित नहीं है, बल्कि इनके ज्ञान का आधार 75 प्रतिशत से अधिक आयुर्वेद के सिद्धांतों के अनुकूल है।         
आयुर्वेद और योग के माध्यम से जो जीने की कला विकसित हुई, आधुनिक विज्ञान इसके वैज्ञानिक पक्ष को सामने लाने का प्रयास कर रहा है। उदाहरणार्थ- आयुर्वेद का मानना है कि भोजन में 50 प्रतिशत ठोस प्रतिशत तथा 25 प्रतिशत तरल पदार्थ रहें तथा शेष 25 प्रतिशत भाग वायु के आवागमन के लिए खाली रहे। विज्ञान भी इसका समर्थन करते हुए कहता है कि पेट भरने का संदेश दिमाग में पहुंचने में 20 मिनट लगते हैं। अतः भोजन के आखिरी दौर में पेट भरने के पहले ही हाथ खींच लें।  प्रातः जागरण के संस्कार को भी विज्ञान सही मानता है क्योंकि उस समय पिट्टूटरी ग्लैंड का स्त्राव अधिकतम् होता है। 
सम्पूर्ण विश्व में जापानी सबसे ज्यादा जीते हैं। उनमें रोगों का प्रतिशत भी तुलानात्मक रूप से कम हैं। उनके स्वस्थ व दीर्घायु जीवन पर अध्ययन करने पर जो सूत्र सामने आये हैं वे कोई रहस्यमय नहीं, बल्कि अत्यन्त सरल और व्यावहारिक हैं; जैसे कि-
  • भूख से 20 प्रतिशत कम खाते हैं। (हरा हची बू यानि पेट भर नहीं)
  •  सब्जी, दाल, फलों का सेवन ज्यादा करते हैं।
  • खाने की प्लेट छोटी रखते हैं।
  • भोजन के बाद मीठा नहीं बल्कि फल या ग्रीन टी लेते हैं।
  • खट्टे फर्मेन्टेड सब्जी का प्रयोग ज्यादा करते हैं क्योंकि इसमें पाचन अच्छा रखने वाले गुड लेक्टिक एसिट  बैक्टीरिया की अधिकता होती है।
  • सूक्ष्म व्यायाम की विधा ‘ताई ची’ नियमित रूप से करते हैं।
  •  ज्यादा पैदल चलना, साइकिल का उपयोग ज्यादा तथा कार की बजाय सार्वजनिक वाहन का उपयोग ज्यादा करते हैं।
  • संयुक्त परिवार को महत्व देते हैं। परस्पर मिलना-जुलना, सामाजिकता पर बल देते हैं।
            यही कारण है कि जापानियों की जीवन प्रत्याक्षा (Life Expentence)  82.5 वर्ष है, जो विश्व में सबसे ज्यादा है, जबकि भारत में 65 है। जापानी सिर्फ लम्बी उम्र ही नहीं जीते, बल्कि उनमें हृदय रोग, मोटापा, डायबिटीज जैसे विकृत जीवन शैली जनित रोगों का प्रतिशत भी काफी कम है।
            उपरोक्त सभी सूत्र भारतीय संस्कृति में पूर्व से विद्यमान है, लेकिन उनके प्रति उदासीनता के कारण जीवन शैली में बदलाव स्पष्ट देखा जा सकता है।  अब प्रश्न यह उठता है कि स्वस्थ जीवन शैली की ये कलात्मक जीवन सूत्र हमारे देश में मौजूद हैं, फिर भी हमारे यहाँ स्वास्थ्य की स्थिति चिन्ताजनक क्यों है?  इसका कारण यह है कि कला के साथ विज्ञान का समन्वय नहीं हो पाना। आज स्वस्थ जीवन के सूत्रों के वैज्ञानिक पक्ष को खुले दिमाग से सामने लाना होगा। 
            विवाह, गर्भाधान, बाल-किशोर, प्रौढ़ावस्था अर्थात् जीवन के प्रत्येक चरण को स्वस्थ रखने के लिए स्वस्थ जीवन शैली के सूत्र भारतीय चिन्तन में निहित हैं। ऐसे सूत्रों के कलात्मक और वैज्ञानिक पक्ष को चिन्तकों, अनुभवी विद्वानों, विषय विशेषज्ञों द्वारा व्यवहार में लाने हेतु संयुक्त प्रयास करने होंगे।

डाॅ. मधुसूदन देशपांडे, आयुर्वेद चिकित्सक, ओजस पंचकर्म सेंटर भोपाल के सहयोग से .......
....कविता रावत

SHARE THIS

Author:

Previous Post
Next Post
September 23, 2014 at 12:13 PM This comment has been removed by the author.
avatar
September 23, 2014 at 12:15 PM

सुंदर प्रस्तुति...
दिनांक 25/09/2014 की नयी पुरानी हलचल पर आप की रचना भी लिंक की गयी है...
हलचल में आप भी सादर आमंत्रित है...
हलचल में शामिल की गयी सभी रचनाओं पर अपनी प्रतिकृयाएं दें...
सादर...
कुलदीप ठाकुर

Reply
avatar
September 23, 2014 at 2:03 PM

Bahut acchi jaankaari va lekh.....!!!

Reply
avatar
September 23, 2014 at 2:57 PM

उपयोगी और लाभदायक लेख

Reply
avatar
Anonymous
September 23, 2014 at 4:13 PM

Hey there! I know this is kind of off topic but I was wondering if
you knew where I could get a captcha plugin for my comment form?
I'm using the same blog platform as yours and I'm having problems finding one?
Thanks a lot!

my blog Pure Forskolin Review

Reply
avatar
September 23, 2014 at 4:38 PM

इस दुर्लभ जीवन में स्वास्थ्य ही सब कुछ है.
बहुत ही उपयोगी एवं सार्थक लेख :) डाॅ. मधुसूदन देशपांडे जी का भी बहुत बहुत आभार,

पधारिये Rohitas Ghorela: पासबां-ए-जिन्दगी: हिन्दी

Reply
avatar
September 23, 2014 at 5:08 PM

सार्थक और उपयोगी लेख ।

Reply
avatar
RAJ
September 23, 2014 at 5:46 PM

स्वास्थ्य है तो संसार है वर्ना सबकुछ बेकार.....
बहुत उपयोगी और लाभदायक जानकारी ,,,,

Reply
avatar
September 23, 2014 at 7:10 PM

बहुत उपयोगी और लाभदायक आलेख

Reply
avatar
September 23, 2014 at 7:25 PM

शरीर का स्वस्थ रहना परम आवश्यक है। यदि शरीर स्वस्थ नहीं हो, तो मन स्वस्थ नहीं रह सकता, मन स्वस्थ नहीं तो विचार स्वस्थ नहीं होते।................. एकदम सही बात है ......
बहुत अच्छी स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी है

Reply
avatar
Anonymous
September 24, 2014 at 1:51 AM

I love your blog.. very nice colors & theme. Did you make this website yourself or did you hire
someone to do it for you? Plz reply as I'm looking to
construct my own blog and would like to find out where u got this from.
many thanks

Feel free to visit my blog: renuvacell Reviews

Reply
avatar
September 24, 2014 at 7:11 AM

बहुत ही उपयोगी एवं सार्थक लेख

Reply
avatar
September 24, 2014 at 10:44 AM

उपयोगी और लाभदायक लेखन

Reply
avatar
September 24, 2014 at 11:12 AM

सूचना एवं महत्त्वपूर्ण जानकारियों से परिपूर्ण रचना। बहुत ही उपयोगी है। स्वयं शून्य

Reply
avatar
September 24, 2014 at 8:17 PM

Health is Wealth'
अच्छी उपयोगी जानकारी .............

Reply
avatar
Anonymous
September 25, 2014 at 10:36 AM

I am curious to find out what blog platform you happen to be utilizing?
I'm having some minor security issues with my latest
website and I would like to find something more safeguarded.
Do you have any suggestions?

Feel free to visit my site Nitric Max Muscle Review

Reply
avatar
September 25, 2014 at 1:57 PM

बहुत उपयोगी और सारगर्भित आलेख...

Reply
avatar
September 25, 2014 at 2:04 PM

कोई समय था जब भारतीय पद्धति विश्व में सर्वोच्च हुआ करती थी ... पर समय के साथ हमने ही इसका मान नहीं रखा ... स्वस्थ ही है इंसान का जो हमेशा साथ देता है... देर तक साथ देता है ...
बहुत उपयोगी लेख ...

Reply
avatar
September 25, 2014 at 4:19 PM

आपकी यह उत्कृष्ट प्रस्तुति कल शुक्रवार (26.09.2014) को "नवरात महिमा" (चर्चा अंक-1748)" पर लिंक की गयी है, कृपया पधारें और अपने विचारों से अवगत करायें, चर्चा मंच पर आपका स्वागत है, धन्यबाद। नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें।

Reply
avatar
September 26, 2014 at 8:38 AM

उपयोगी लेख !
नवरात्रि की हार्दीक शुभकामनाएं !
शुम्भ निशुम्भ बध -भाग ३

Reply
avatar
Anonymous
September 26, 2014 at 8:32 PM

Hello, i read your blog from time to time and i own a similar one and i was just wondering if you get a lot of
spam responses? If so how do you reduce it, any plugin or anything you can recommend?

I get so much lately it's driving me crazy so any support is very
much appreciated.

my web-site: Reviews

Reply
avatar
September 27, 2014 at 12:23 PM

बहुत ही उपयोगी एवं सार्थक लेख
नवरात्रि की शुभकामनाएं !

Reply
avatar
Anonymous
September 29, 2014 at 5:46 PM

Nice weblog right here! Additionally your site so much up fast!

What host are you using? Can I get your affiliate hyperlink in your host?
I want my site loaded up as quickly as yours lol

my homepage Pure Forskolin Review

Reply
avatar
Anonymous
September 30, 2014 at 6:22 PM

Yesterday, while I was at work, my sister stole my apple ipad
and tested to see if it can survive a 30
foot drop, just so she can be a youtube sensation. My apple ipad is
now destroyed and she has 83 views. I know this is totally off
topic but I had to share it with someone!

Here is my weblog - Pure Forskolin Reviews

Reply
avatar
Anonymous
September 30, 2014 at 8:13 PM

Hmm it seems like your blog ate my first comment (it was
extremely long) so I guess I'll just sum it up
what I wrote and say, I'm thoroughly enjoying your blog.
I as well am an aspiring blog writer but I'm still new to everything.
Do you have any recommendations for rookie blog writers?
I'd definitely appreciate it.

Also visit my site - homepage

Reply
avatar
September 30, 2014 at 9:41 PM

बहुत ही उपयोगी एवं सार्थक लेख
नवरात्रि की शुभकामनाएं .....जय माता दी

Reply
avatar
Anonymous
October 1, 2014 at 8:14 AM

Hi! Do you know if they make any plugins to safeguard against hackers?
I'm kinda paranoid about losing everything I've worked hard on. Any
tips?

Feel free to surf to my web page; Power Precision

Reply
avatar
October 1, 2014 at 9:49 AM

बहुत सुन्दर लेखन .तीन प्रकार की शान्ति -ॐ शांति शांति शांति में पहली शांति -मेरा शरीर स्वस्थ रहे मुझे उपलब्ध रहे जब तक मैं चाहूँ ,दूसरी मेरा मन तथा अतिश्री मेरी बुद्धि स्वस्थ रहे प्रत्येक वैदिक मन्त्र के पहले कही गई है .

Reply
avatar
October 1, 2014 at 12:26 PM

बहुत उपयोगी जानकारियां निहित हैं। नवरात्री की हार्दिक शुभकामनायें।

Reply
avatar
October 2, 2014 at 10:38 PM

बढ़िया जानकारी.अच्छा तन,मन अपने और स्वस्थ समाजके लियेभी जरुरी हे.

Reply
avatar
Anonymous
October 17, 2014 at 2:30 PM

I am not sure where you are getting your information, but great topic.
I needs to spend some time learning much more or understanding more.
Thanks for great info I was looking for this info for my mission.

my homepage ... cruise control dukan diet complaints

Reply
avatar
Anonymous
October 17, 2014 at 6:51 PM

It's amazing designed for me to have a site, which is valuable for my knowledge.
thanks admin

my web blog :: branched chain

Reply
avatar
Anonymous
October 17, 2014 at 9:18 PM

Ahaa, its fastidious dialogue regarding this post at this place at this blog, I have read all that, so at this
time me also commenting here.

Take a look at my web page: http://helbreathsonicx.com/

Reply
avatar
Anonymous
October 18, 2014 at 3:00 AM

I like reading through an article that will make people think.

Also, many thanks for allowing me to comment!

Have a look at my page dmc-ts1 photo recovery

Reply
avatar
Anonymous
October 18, 2014 at 5:07 AM

Тaking off from this, let your ex girlfriend know that
you are still іnterested in her. You ρlanned each date
ϲarefully, dressed up for the events, and brought
little gіfts to him or her from time to time. If you are
not successful, Fiore offers an unconditional 60-day guarantee.



Visit my site :: weight dеstroyer reviews (pdffreesite.com)

Reply
avatar
Anonymous
October 18, 2014 at 7:01 AM

Good article. I'm dealing with many of these issues as
well..

My website :: diabetes treatment center in chennai

Reply
avatar
Anonymous
October 18, 2014 at 7:00 PM

Hi there, I desire to subscribe for this website to get latest updates, so where can i do it please assist.



Also visit my web site Coeloglossum viride

Reply
avatar
Anonymous
October 19, 2014 at 6:35 AM

hey there and thank you for your info – I've certainly picked
up anything new from right here. I did however expertise some technical points
using this website, since I experienced to reload the web site many times previous to I could get it
to load correctly. I had been wondering if your web host is OK?
Not that I'm complaining, but sluggish loading instances times will often affect your placement in google and could damage your high quality score if advertising and marketing with Adwords.
Well I'm adding this RSS to my e-mail and could look out for a lot more
of your respective exciting content. Make sure you update this again soon.

Feel free to visit my homepage - physostegia

Reply
avatar
Anonymous
October 19, 2014 at 7:12 AM

This ѕection details the majοr proʝect risks and dеlineates the
plans to allеviate or control tɦem. Whоever says thе
last word is the person who has the power in the relationshiρ.
If you are not successfսl, Fiore offers an uncondіtional 60-day guarantee.


Look into my web-site Millionaires Brain Download

Reply
avatar
Anonymous
October 19, 2014 at 12:48 PM

I do not even understand how I finished up right here, but I thought
this put up was good. I do not recognise who you are but certainly you're
going to a famous blogger if you happen to aren't already.
Cheers!

Also visit my website - isomagnetic

Reply
avatar
Anonymous
October 19, 2014 at 3:57 PM

Heya i'm for the first time here. I came across this
board and I find It truly useful & it helped
me out much. I am hoping to present one thing again and aid others like you aided me.


Also visit my web-site ... cytotoxic T cell

Reply
avatar
Anonymous
October 19, 2014 at 4:32 PM

This article will be discussing one of the best games for game consoles of
this company. You can check out the full details from the Games - Master review below (via Nintendo Everything):
. There have been introduced multi versions of Mario games and kids love it.


Here is my web site - giochi di mario bros

Reply
avatar
Anonymous
October 19, 2014 at 4:33 PM

The very first thing you should do to repair the crack is remove the damaged a part of the concrete.
With concrete crack injection, you can quickly seal cracks in basement walls and prevent
them from turning into a big time home repair headache later
on. According to the best GATE coaching Delhi- Engineers Institute of India, the last minute doubt that arises that questions your level
of preparation right before the night of exam is common to all students
but those who make it sincerely believed they could in the first place.


My blog post crack for photoshop cc

Reply
avatar
Anonymous
October 20, 2014 at 1:44 AM

Keep this going please, great job!

my weblog :: dinnerware set

Reply
avatar
Anonymous
October 20, 2014 at 7:05 PM

Your method of explaining all in this article is actually
pleasant, all can without difficulty be aware of it, Thanks a lot.



Also visit my web blog - that s not how men work getaway ()

Reply
avatar
Anonymous
October 21, 2014 at 10:06 AM

I was able to find good advice from your articles.

My web page ... www.social.mobilechatmoney.com

Reply
avatar
Anonymous
October 21, 2014 at 12:38 PM

This site was... how do I say it? Relevant!!
Finally I have found something that helped me.
Many thanks!

My homepage; deraigning

Reply
avatar
Anonymous
October 21, 2014 at 1:36 PM

Thanks for sharing your thoughts. I really appreciate your efforts and I will
be waiting for your further write ups thanks once again.

Here is my blog post; cutest

Reply
avatar
Anonymous
October 21, 2014 at 2:00 PM

I will be sincere and say that if you have the precise stuff
and use it the precise means, supplements can undoubtedly accelerate your
progress…and so in this information, we have outlined those that will assist you to
meet your goals. We break down which meals to
use and which of them to remain away so you're never left guessing what to purchase
on the grocery retailer.

Feel free to visit my weblog - 4 cycle fat loss solution free download
(http://k-vegas.com/kernersville-kids/profile/kiduran)

Reply
avatar
Anonymous
October 21, 2014 at 8:39 PM

It's the best time to make best executive resume writing services some plans for the future and it's time to be happy.
best professional resume writing services I've read this
post and if I could I want to suggest you few interesting things
or suggestions. Maybe you can write next articles referring to this article.
I want to read even more things about it!

Reply
avatar
Anonymous
October 22, 2014 at 4:49 AM

Hello There. I found your blog using msn. This is an extremely well written article.

I'll make sure to bookmark it and return to read more of your useful
info. Thanks for the post. I'll certainly comeback.


Here is my homepage: laryngorhinology

Reply
avatar
November 11, 2014 at 3:52 PM

ज्ञान वर्धक व जिवनौपयोगी आलेख......

Reply
avatar
Anonymous
November 21, 2014 at 4:59 PM

まさかドロップ2倍無し+クソ難易度の超絶ドロップ絞りドラゴンラッシュで許されるとでも? パチンコ 西区 バットスリーブTシャツ 特に白1足1足を背景に smithsacres

Reply
avatar