नए साल के लिए कुछ जरूरी सबक


उठिए - जल्दी घर के सारे, घर में होंगे पौबारे
लगाइए - सवेरे मंजन, रात को अंजन
नहाइए - पहले सिर, हाथ-पैर फिर
पीजिए - दूध खड़े होकर, दवा-पानी बैठकर
खिलाइए - आए को रोटी, चाहे पतली हो या मोटी
पिलाइए  - प्यासे को पानी, चाहे कुछ होवे हानि
छोडि़ए    - अमूचर की खटाई, रोज की मिठाई
कीजिए - आये का मान, जाते का सम्मान
जाइए - दुःख में पहले, सुख में पीछे
बोलिए - कम से कम, दिखाओ ज्यादा दम
देखिए - माँ का ममत्व, पत्नी का धर्म
भगाइए   - मन के डर को, बूढे़ वर को
खाइए - दाल-रोटी-चटनी, कितनी भी कमाई हो अपनी
धोइए - दिल की कालिख को, कुटुम्ब के दाग को
सोचिए - एकांत में, करो सबके सामने
चलिए - अगाड़ी, ध्यान रहे पिछाड़ी
बोलिए   - जुबान संभालकर, थोड़ा बहुत पहचानकर
सुनिए  - पहले पराये की, फिर अपनों की
रखिए - याद कर्ज चुकाने की, मर्ज को मिटाने की
भूलिए     -  अपनी बड़ाई को, दूसरे की भलाई को
छिपाइए  - उम्र और कमाई, चाहे पूछे सगा भाई
लीजिए - जिम्मेदारी उतनी, संभाल सको जितनी
रखिए -  चीज़ जगह पर, जो मिले समय पर



SHARE THIS

Author:

Previous Post
Next Post
December 31, 2014 at 11:14 AM

बहुत बढ़िया...नववर्ष की बहुत बहुत बधाई...

Reply
avatar
RAJ
December 31, 2014 at 2:14 PM

एक से बढ़कर एक सबक ...
नए साल की हार्दिक बधाई!

Reply
avatar
December 31, 2014 at 2:48 PM

नव वर्ष पे इतना सब कुछ ...
आपको और परिवार में सभी को नव वर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं ...

Reply
avatar
December 31, 2014 at 2:57 PM

बहुत सुन्दर शब्द जाल। आपको भी हार्दिक शुभकामनाये , कविता जी !

Reply
avatar
December 31, 2014 at 4:10 PM

वाह ! सुन्दर सीख - विचार .आपको सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं ...

Reply
avatar
December 31, 2014 at 4:57 PM

नए साल के लिए सुन्दर सबक ...
नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं ...

Reply
avatar
December 31, 2014 at 5:15 PM

बहुत बढ़िया सीख ......
नव वर्ष की हार्दिक बधाई !

Reply
avatar
December 31, 2014 at 5:29 PM

वाह! बड़े जरुरी सबक ....
नया साल मुबारक हो!!!!

Reply
avatar
December 31, 2014 at 6:44 PM

अच्छे टिप्स दिए आपने नए साल के लिए ................................
आपको और परिवार के सभी लोगों को नव वर्ष की लख लख हार्दिक बधाइयां...

Reply
avatar
December 31, 2014 at 7:39 PM

आपकी इस प्रस्तुति का लिंक चर्चा मंच पर वर्ष २०१५ की प्रथम चर्चा में दिया गया है
नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ

Reply
avatar
December 31, 2014 at 8:08 PM

आपको नव वर्ष 2015 सपरिवार शुभ एवं मंगलमय हो।

कल 01/जनवरी/2015 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
धन्यवाद !

Reply
avatar
December 31, 2014 at 9:30 PM

बहुत सुंदर.

जो दर्द भरा था बीत गया उसको क्यों याद किया जाए
सचमुच त्यौहार ही जीवन है ये त्यौहार जिया जाए
जाने वाला वश में न था आने वाला तो वश में हो
है नया वर्ष आने वाला सबको सुख और प्रेम दिया जाए

................आने वाले वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं !

Reply
avatar
January 1, 2015 at 7:44 AM

बहुत सुन्दर सीख |नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं |
: नव वर्ष २०१५

Reply
avatar
January 1, 2015 at 1:59 PM

सुन्दर सीख आपको भी नववर्ष की बहुत बहुत बधाई

Reply
avatar
January 1, 2015 at 2:55 PM

नववर्ष पर नयी सीख। ऩव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें।

Reply
avatar
January 1, 2015 at 3:08 PM

नए साल की नयी सीख......
नव वर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं ...

Reply
avatar
January 1, 2015 at 3:10 PM

नव वर्ष मंगलमय हो!

Reply
avatar
January 1, 2015 at 7:04 PM

बहुत बढ़िया। आपको भी अनेको शुभकामनाएं।

Reply
avatar
January 1, 2015 at 7:07 PM

सार्थक प्रस्तुति।
--
नव वर्ष-2015 आपके जीवन में
ढेर सारी खुशियों के लेकर आये
इसी कामना के साथ...
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Reply
avatar
January 2, 2015 at 11:17 AM

सुंदर और उपयोगी सबक....सुख-शान्ति, समृद्धि, प्रसन्नता, सफ़लता एवं आरोग्य की मंगलकामनाओं के साथ नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें!!!

Reply
avatar
January 2, 2015 at 7:28 PM

आपको सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ

Reply
avatar
January 2, 2015 at 8:05 PM

अच्छा सबक दिया है आपने .
नववर्ष की बधाई.

Reply
avatar
January 2, 2015 at 8:12 PM

पूरा साल निकल जाएगा इनको साधने में कविता जी!!
बहुत अच्छे!!

Reply
avatar
January 3, 2015 at 2:03 PM

अच्छा सबक दिया आपको सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ

Reply
avatar
January 3, 2015 at 8:07 PM

बहुत सुन्दर

Reply
avatar
January 3, 2015 at 9:44 PM

बहुत सुन्दर सीख...शुभकामनाएं!

Reply
avatar
January 4, 2015 at 1:34 PM

बहुत ही सुन्दर, आपको सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ

Reply
avatar
January 6, 2015 at 9:07 PM

बहुत सुन्दर आदरणीया कविता जी! साभार!
धरती की गोद

Reply
avatar