दरिया जिधर बह निकले वही उसका रास्ता होता है

दो काम एक साथ हाथ में लेने पर एक भी नहीं हो पाता है।
बहुत ज्यादा सोच-विचार वाला कुछ भी नहीं कर पाता  है।।

जो कुछ नहीं जानता वह किसी बात में संदेह नहीं करता है।
जो अधिक जानता है वह काम पर भी विश्वास कर लेता है ।।

जो जल्दी विश्वास कर लेता है वह बाद में पछताता है ।
समझदार आदमी हर मामले में समझदार नहीं होता है ।।

कमजोर काठ को अक्सर कीड़ा जल्दी खा जाता है ।
दरिया जिधर बह निकले वही उसका रास्ता होता है ।।  

SHARE THIS

Author:

Previous Post
Next Post
October 25, 2017 at 10:11 AM

वाह्ह्ह....बहुत खूब👌👌
प्रेरक रचना कविता जी।

Reply
avatar
October 25, 2017 at 6:55 PM

आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 26-10-2017 को चर्चा मंच पर चर्चा - 2769 में दिया जाएगा
धन्यवाद

Reply
avatar
October 25, 2017 at 6:57 PM

नमस्ते, आपकी यह प्रस्तुति "पाँच लिंकों का आनंद" ( http://halchalwith5links.blogspot.in ) में गुरूवार 26-10-2017 को प्रातः 4:00 बजे प्रकाशनार्थ 832 वें अंक में सम्मिलित की गयी है।
चर्चा में शामिल होने के लिए आप सादर आमंत्रित हैं, आइयेगा ज़रूर।
सधन्यवाद।

Reply
avatar
October 25, 2017 at 7:22 PM

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, ठुमरी साम्राज्ञी गिरिजा देवी को ब्लॉग बुलेटिन का नमन “ , मे आप की पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

Reply
avatar
October 25, 2017 at 9:29 PM

सुंदर प्रस्तुति।

Reply
avatar
October 26, 2017 at 8:24 AM

बहुत ज्ञानवर्धक सन्देश !

Reply
avatar
October 26, 2017 at 5:21 PM

बहुत सटीक सीख दी है आपने । हर पंक्ति उपयोगी शिक्षा को अपने में समेटे हुए....

Reply
avatar
October 30, 2017 at 9:59 AM

आपकी लिखी रचना "मित्र मंडली" में लिंक की गई है https://rakeshkirachanay.blogspot.in/2017/10/41.html पर आप सादर आमंत्रित हैं ....धन्यवाद!

Reply
avatar
October 30, 2017 at 12:21 PM

बहुत ही सुन्दर

Reply
avatar
October 30, 2017 at 12:40 PM

सही है समझदार आदमी हर मामले में समझदार नहीं होता ...
हर छंद गहरी सचाई लिए ... जमाने का आइना है ...

Reply
avatar
October 30, 2017 at 9:09 PM

सार्थक सन्देश भरी सुंदर सरल रचना -------

Reply
avatar
October 31, 2017 at 4:54 PM

अर्थात् जीवन जैसे चल पड़े चलने दो नदी की तरह।

Reply
avatar
November 6, 2017 at 11:16 AM

वाह्ह्ह्ह बहुत सुन्दर 1

Reply
avatar
November 7, 2017 at 10:44 PM

सार्थक संदेश से परिपूर्ण सुंदर रचना..

Reply
avatar