भोपाल उत्सव मेले में झलकता शहर का वसंत

इस बार तो २६ जनवरी से पहले ही वसंत पंचमी आ गयी। भला हो घर के बगीचे की छोटी सी क्यारी में खिली वासंती फूलों से लदी सरसों का! वसंत के आगमन की सूचना मुझ तक उसने ही पहुँचाई । गाँव में वसंत की सूचना तो प्रकृति के माध्यम से सहज रूप से मिल जाती हैं लेकिन शहर में वसंत को तलाशना कतई आसान काम नहीं है। इसी वासंती रंग की तलाश में जब हम घर से भोपाल स्थित नार्थ टी.टी. नगर में एक विशाल मैदान 'दशहरा मैदान' में लगे मेले में पहुंचे तो रात को बिजली की आकर्षक साज-सज्जा से सुसज्जित रंग-बिरंगी रौशनी में नहाये मेले को देखकर लगा शहर में वसंत आ गया है।  क्रमशः  .....................



SHARE THIS

Author:

Previous Post
Next Post
January 24, 2018 at 2:51 PM

really शहर में वसंत आ गया है......

Reply
avatar
January 24, 2018 at 3:35 PM

वाह...
बेहतरीन
सादर

Reply
avatar
January 24, 2018 at 5:10 PM

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल गुरूवार (25-01-2018) को "कुछ सवाल बस सवाल होते हैं" (चर्चा अंक-2859) पर भी होगी।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Reply
avatar
January 24, 2018 at 9:58 PM

आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन राष्ट्रीय बालिका दिवस और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

Reply
avatar
January 25, 2018 at 11:14 AM

बहुत बढिया।

Reply
avatar