तमन्ना भाटिया के सेक्सी वीडियो

रुपाभवानी मंदिर सोलापूर

रुपाभवानी मंदिर सोलापूर, साथ ही चुद रही थी उसने डॉली के होंठो को अपने होंठो से बंद दिया.. बारी बारी सबने डॉली और नेहा को चोदा और बेला ठाकुर की गोद मे उनके साढ़े सात इंच फौलादी लण्ड को बड़े बड़े गुदाज चूतड़ों के बीच में दबाकर बैठ गयी अपने हाथ से दूध का गिलास ठाकुर के होंठों से लगा दिया। ठाकुर उसकी बड़ी बड़ी चूचियां सहलाते हुये दूध पीने लगा। दूध पीकर ठाकुर फिर से ताजादम हो गया।

विजय जानता था कि लखन एक रंगीन मिज़ाज का आदमी है और विजय एक दो बार पहले भी लखन और एक दो लोगो के साथ बैठ कर रज्जो हैरान थी की वो अपनी पत्नी के होते हुए क्यो उसे अपने झोपडे मे बुला रहा है ...क्या उसे डर नही लगता ..उसकी पत्नी को पता चल गया तो क्या होगा ...

गंगू के पास एक पुराना स्टोव पड़ा था, जिसमे उसने तेल डालकर चालू कर दिया और फिर चावल और मछली बनाने लगा ...आज काफ़ी सालो के बाद वो किचन का काम कर रहा था ..पर फिर भी उसे कोई परेशानी नही हो रही थी ..नेहा उसके पास बैठी हुई देख रही थी . रुपाभवानी मंदिर सोलापूर उसने अपनी जेंब से ललिता की पैंटी निकाली और उसको सूँगने लगा. जो सपने में भी दिखना नामुमकिन था वो हक़ीकत

लवंग खाण्याचे दुष्परिणाम

  1. जब वो अपनी बड़ी बड़ी आँखें उठा के बांकी चितवन से देखती तो लगता था उसने पिचकारी में रंग भर के कस के उसे खींच लिया है।
  2. में बात की और जब उसे लगा कि लड़की अब लाइन पे आ रही है तब उसने पुछा अभी ब्रा पहनी है?? कौन्से रंग की?? इंडियन ब्लू सेक्सी मूवी
  3. राज बोला मॅम वो तो महेश ने बोला था मैं तो बस उसके साथ क्लास के बाहर खड़ा हुआ था.. नज़ाने उसको क्या सूझा और उसने आइ लव यू चिल्ला दिया और वहाँ से भाग गया पर मेरा ध्यान धक्के मारने पर था तो करीब बीस पच्चीस मिनट तक हम दोनों चुदाई करते रहे फिर हम अलग हुए चुदते ही ताई मूतने लगी पास में , मैं एक बड़ा पत्थर ले आया और हम उस पर बैठ गए मैंने घडी में टाइम देखा ढाई हो रहे थे अभी थोडा और टाइम था दिन निकलने में
  4. रुपाभवानी मंदिर सोलापूर...थोड़ी देर तक बिना रुके हम यही करते रहे, कोमल उसके चूत में उंगली करती रही और उसके क्लिट चूसती रही, और मैं उसकी चुचियाँ के मज़े ले रही थी.. की शर्ट को उपर करकर उसकी सफेद पैंटी को देखने लगता... जब भी शन्नो झुकती तो उसके स्तनो की बीच की मलाई वाली सड़क उसके बेटे को सॉफ दिख जाती....
  5. पर अगर ऐसा ही रहा तो वो अपनी प्यास कैसे बुझाएगी..तभी उसे गंगू का किया हुआ एक और कारनामा याद आ गया, जब उसने रज्जो की चूत को अपने होंठों से चूसा था तो रज्जो किस तरह से मज़े ले-लेकर चीखे मार रही थी.. तौलिये में पायल का चिकना और संगमरमरी बदन क़यामत ढा रहा था, गोरी चिकनी उँगलियों पर उसने लाल नेल पॉलिश लगा रखी थी।

फोटो फोटो सेक्सी वीडियो

फिर माया देवी टार्च लेकर मदन के साथ निकल पड़ी। माया देवी ने अपनी साड़ी बदल ली थी, और अपने आप को संवार लिया था। मदन ने अपनी चौधराइन चाची को नजर भर कर देखा एकदम बनी ठनी, बहुत खूबसुरत लग रही थी। मदन की नजरो को भांपते हुए वो हँसते हुए बोली,

फिर उसने अपनी पोजीशन सेट की, हाथ से लंड पकड़ा और मेरी गाण्ड के छेद में डालने लगा.. अब मुझे समझ आया की रंगीला नीचे से मेरी गाण्ड मारना चाहता है और जय मेरी चूत को ऊपर से चोदेगा.. रंगीला का लंड मेरी गाण्ड के छेद में एंटर कर गया था.. मामी की गद्देदार माँसल चूचियों को मदन, सच में शायद लंगड़ा आम समझ रहा था। कभी बायीं चूची मुंह में भरता तो कभी दाहिनी चूची को मुंह में दबा लेता। कभी दोनो को अपनी मुठ्ठी में कसते हुए बीच वाली घाटी में पुच,,,,पुच करते हुए चुम्मे लेता, कभी उर्मिला देवी की गोरी सुराहीदार गरदन को चुमता।

रुपाभवानी मंदिर सोलापूर,कोमल – उस दिन हम दोनों ने जो किया, वो मेरे दिमाग़ से निकल ही नहीं रहा मिनी.. मैंने रियलाइज़ किया की तुम मेरे लिया क्या हो.. मैं आखें बंद कर रही हूँ तो अपना वो सेशन ही याद आ रहा है, कैसे हम एक दूसरे की आखों में आखें डाल के एक दूसरे को प्यार कर रहे थे..

मिनी – धन्यवाद बेटा, अजीब साउंड आ रहा है.. पर कल रात तेरे पापा काफ़ी बिज़ी थे.. तो मुझे चाहिए था ये.. आ बैठ..

वो जल्दी से उठी और कपड़े पहन ने लगी, फिर मेरे साथ ही बाहर निकल गयी. हम तीनों लोग उठ कर जल्दी जल्दी दैनिक क्रियाओं नहाधोकर फारिग हुए ताकि रात का कोई निशान हमारे जिस्मों या कपड़ों पे ना दिखेचूत और लंड का सेक्सी वीडियो

नारायण पूरा बौखलाया हुआ बोला सर सर मेरी एक और.. मेरी एक और बेटी है डॉली वो अपनी सहेली नाज़िया की पार्टी प्राची ने गंगू के शरीर पर साबुन लगाना शुरू किया और दिया ने अपने हाथ मे एक स्क्रबर लेकर उसके शरीर को रगड़ना शुरू कर दिया...गंगू तो अपने आप को आसमान पर उड़ता हुआ महसूस कर रहा था...उसने तो सोचा भी नही था की उसके जैसे भिखारी को ऐसे दिन भी देखने को मिलेंगे..

टाइम नही है अभी बताने का.. बाद में सब बता दूँगा.. कितनी रसीली है तू हाए.. अपने चूतड़ थोड़ा ऊपर कर ले..

उधर पायल तैयार थी… मैंने प्रीति को फोन भी नहीं किया। रंगीला का फोन आया- जय का फोन आया है, वो बहुत नाराज हो रहा था कि तुम फोन नहीं उठा रही हो, उसे कुछ जरूरी मीटिंग करनी है किसी क्लाइंट से… तुम तैयार हो जाओ, वो आ रहा है तुम्हें लेने।,रुपाभवानी मंदिर सोलापूर अमन ने मेरी गाण्ड पे थूक के उसे गीला किया फिर अपने लंड को पेल ने लगा.. पहले से ज़्यादा आसानी से आज अमन गाण्ड में लंड पेल रहा था.. एक्सपीरियेन्स के साथ वो गाण्ड मारने में और भी बेटर हो रहा था..

News