मारवाड़ी सेक्सी विडीयो

বাংলা বেঙ্গলি সেক্স

বাংলা বেঙ্গলি সেক্স, ‘हाँ हाँ, अभी अभी फ्री हुआ हूँ. तुम रुको मैं बाहर ही आ रहा हूँ दो मिनट में!’ मैंने कहा और फोन काट दिया. आखरी कुच्छ दीनो में. जीजाजी के मरने से कोई 2 महीने पहले से. एक दिन वो मुझसे मिलने शहेर आई इंदर ने बताना शुरू किया

भाभी कड़क आवाज़ में बोली, झूट पर झूट.......बेशरम कही के....बोलते क्यों नहीं की तुम नीलू चाची को चोद रहे थे मैंने सकपका कर कोमल भाभी को देखा, वो बड़े ही गौर से मेरी हरकते देख रही थी,.....मुझे अपनी और देखते हुए बोली, अरे भैया......लगाओ न...... ( क्या लगाउ भेनचोद ???? )

फिर भी डरते डरते कई बार उसे कोचिंग के टाइम बाइक पर बैठा कर दूर जंगल में ले जा के या पास में बांध की तलहटी में चोद कर उसकी प्यास बुझाई भी! বাংলা বেঙ্গলি সেক্স जी हां पर अगर मैं पी लूँ तो मैं पागल हो जाता हूँ. अपने होश में नही रहता. अगर एक बार मुझे नशा चढ़ जाए तो मैं बीच बाज़ार में नाचना शुरू कर दूं इंदर ने हल्का शरमाते हुए जवाब दिया

जिओ टावर का मालिक कौन है

  1. हां. मर्द था ना. चोद मुझे रहा होता था और याद उसे नंगी कामिनी आती थी बिंदिया ने ऐसे कहा जैसे अपने मरे हुए मर्द को ताना मार रही हो
  2. तुझे जो बात करनी है मुझसे कर तेज उसके बिल्कुल सामने आ खड़ा हुआ साले 2 कौड़ी के पोलिसेवाले, तेरी हिम्मत कैसी हुई हमारे घर की औरत को पोलीस स्टेशन बुलाने की एचडी सेक्स व्हिडिओ मराठी
  3. क्या नज़ारा था.....बाथरूम की दीवार पर लगा शीशा मुझे लाइव शो दिखा रहा था.......चोदने का मज़ा लंड को और देखने का मज़ा आँखों को.....और क्या चाहिए बॉस ?? नहीं, हम दोनों साथ ही नहाएंगे… यह कहते हुए कोमल अपने विशाल मम्मे झुलाती हुई सजल की ओर बढ़ी। वो काफ़ी उत्तेजित थी।
  4. বাংলা বেঙ্গলি সেক্স...चाची ने फिर जड़ से पकड़ा और बच्चो से बात करने वाली अदा में बोली, अले अले......देखो तो......कैसा नाराज़ हो गया है.........अभी खुश करती हूँ मेले पप्पु लाला को......... और जोर जोर से मेरी मुठ मारने लगी..................... अपुन की हालत गैस पर उबलते दूध के जैसी थी की बस अब उफना. बड़ी मुश्किल से अपने आप को रोक रखा था इच्छा तो हो रही थी की भेन चोद मा चुदाए दुनिया काकी के कपड़े तार तार कर दूं मगर …..
  5. वो हम नही जानते ठाकुर बोले हमने अपना सब कुच्छ आपके नाम कर दिया है. अगर आप उन्हें कुच्छ देना चाहती हैं तो वो आपकी मर्ज़ी है. हम समझते हैं के ये फ़ैसला आपसे बेहतर कोई नही कर सकता थोड़ा और… उसने चटखारे लेते हुए कहा। जब बाकी का रस उसकी छातियों पर गिरा तो उसने एक हाथ से उसे उठाकर चाटा और वहीं अपनी छातियों पर मल दिया और दूसरे से अपनी चूत से खिलवाड़ जारी रखा। वह एक बार फ़िर सुख की कगार पर थी।

সেক্সের ভিডিও দেখান

मैंने दो लेग्गिंग उठाई और उनको उठाते से ही मेरे दिमाग में हथौड़े बजने लगे क्योंकि वह लेग्गिंग काकी ने नाप की बिल्कुल नहीं थी भले रूपा दीदी काकी जितनी लंबी थी मगर उनका बदन काकी जैसा इस कदर गद्दर गदराया हुआ नहीं था अगर काकी यह लगीन पहन लेगी तो...... पहने या ना पहने एक ही बात है

इधर मैं तो चाही का मुआयना कर रहा था मगर चाची की नज़रे मेरे लपलपाते लंड पर थी. उनका मुंह आश्चर्य से खुला हुआ था.....आज वो पहली बार अपने लल्ला के लुल्ले का दीदार कर रही थी. उन्होंने अपने होंठ.....जो सुख गए थे..उनपर जुबान फेरी और मैंने जोर से आह भरी.... हाँ, ये हुई न बात… कोमल बोली- तुम्हारे हाथ मेरे मम्मों को किस तरह निचोड़ रहे हैं। हाँ सुनील मुझे जोर से चोदो… कोमल झड़ गई- चोदो मेरी चूत को… वो चिल्लाई। उसे पता था कि अगर सजल जागता होगा तो वो सुन लेगा। इससे उसे और अधिक गर्मी आई और उसकी चूत के स्पंदन और तेज़ हो गए।

বাংলা বেঙ্গলি সেক্স,वो जब सोफे पर बैठी थी तो उनके बैठने से उनकी गांड पूरी फ़ैल गयी थी. मैं सोच में पढ़ गया.....की आंटी की इतनी मोटी गांड है......कोई पीछे से डाले तो लंड आंटी की मुनिया तक पहुँच भी पाये या नहीं.

और मैंने भी एक दो करारे झटके मारे और मेरे लंड से उबलता हुआ लावा सीधा चाची के लपलपाती चूत में धार पे धार मारते हुए उतरने लगा.........मेरा पूरा शरीर सनसना रहा था.....मेरी आँखों के सामने अंधेरा सा छा गया और मेरे गोटों ने पूरा अमृत चाची की चूत को अर्पित कर दिया.

कोमल भाभी का घर कुछ ऐसा बना था की….एक पोर्च था जिसकी छत पर मैं कूदा था….उसके नीचे एक गॅरेज और कार खड़ी करने की जगह थी…..और घर का मेन गेट ड्रॉयिंग रूम मे खुलता था….फिर उस से जुड़ा हुआ डाइनिंग रूम और एक खुला किचन ….సెక్స్ వీడియో మంచి

हल्की आहट से रूपाली की आँख खुली. उसने कमरे के दरवाज़े की तरफ नज़र की तो देखा के ठाकुर अंदर आ रहे थे. रूपाली ने फ़ौरन नज़र अपने बिस्तर के पास नीचे ज़मीन पर डाली. पायल वहाँ नही थी. आज रात वो अपने कमरे में ही सो गयी थी. रूपाली ने राहत की साँस ली और ठाकुर की तरफ देखकर मुस्कुराइ. चाची ने खाना दिया और मेरे सामने अपने हाथो पर अपनी मुंह टिका कर बैठ गयी. मैंने देखा की रोटियों पर आज भी घी बहुत था. मैंने सोचा थोडा छेड़ लू......

पहले से ही बाबूराव थोडा गीला था।......कुछ प्रीकम की बूँदे और उभर आई और मेरे तेज़ी से मुठ मारने की वजह से मेरे बाबूराव पर एक क्रीम सी बन गयी.....मैं मस्ती मे आ गया था.....कोमल भाभी की उठते गिरते सीने पर नज़र गढाये मैं गपागप मुठ मारे जा रहा था।.

मैं भी पूरे तैश में था, मुझे भी झड़ जाने की जल्दी थी तो मैंने उसकी चूत में लंड से चक्की चलानी शुरू की, पहले क्लॉक वाइज फिर एंटी क्लॉक वाइज… फिर आड़े तिरछे शॉट्स मारे…,বাংলা বেঙ্গলি সেক্স चाची थोडा सा घबरा गयी और पीछे हटने लगी, मैंने अपने दूसरा हाथ उनके मम्मे पर से हटाया और चाची की कमर में डाल कर चाची को अपनी तरफ खिंच लिया. अपनी चाची फस गयी थी. उनके दोनों मम्मे मेरे सीने में गड़ रहे थे और मेरा हाथ एक कीड़े की तरह कुल्बुलालाता हुआ उनकी मुनिया की तरफ बढ रहा था.

News