मां की चूत की फोटो

जुन्या नाण्यांची माहिती

जुन्या नाण्यांची माहिती, बड़ी फिक्र कर रहा है मोम की....... मेरी फिक्र नही है तुझे.......? प्रीति उसकी आँखो मे आँखे डालती हुई बोलती है. कुशल से फिर नही रहा जाता और फिर से वो अपने होंठ प्रीति के होंठो पर रख देता है. किस करते करते ही वो उसे बेड पर गिरा देता है और अपनी टीशर्ट उतार देता है. टीशर्ट उतारने के बाद वो अपनी जीन्स भी उतार देता है.

सिमरन - चल जो होगा देखा जाएगा.......... अभी तू कुच्छ सोच मत और देख कि बस स्टॉप पर क्या होता है.... सब सही ही होगा..... ठीक है रजनी- पहले से ही लेटी हुई थी और राज उसके पास जाकर जाते ही उसके मोटे चुतड़ों पर हाथ रखते हुए, मम्मी सो गई क्या

कुशल - सॉरी मोम... गुस्सा मत होइए प्लीज़. आप बहुत स्वीट है.... कुशल अपनी मम्मी के गालो को पकड़ते हूर बोलता है. जुन्या नाण्यांची माहिती रजनी- उसकी बाते सुन कर मुस्कुराते हुए, बेटे तू बहुत अच्छा चोदता है आज तूने मेरी चूत और गान्ड दोनो को मस्त कर दिया है,

देसी सेक्सी मूवी हिंदी में

  1. असलम:चुप कर जाओ तुम दोनो! बहू तुम बताओ क्या हुआ है? आईशा जल्दी जल्दी जो कुछ भी हुआ बताने लगी. जब वो सारा किस्सा सुना कर चुप हो गयी तो कुछ देर के लिए खामोशी छा गयी. आख़िर असलम साहब ने ये खामोशी तोड़ी.
  2. राज रश्मि की गदराई गान्ड के छेद में उंगली डालता हुआ हाई रश्मि में तो मम्मी को पूरी नंगी करके खूब दबोच-दबोच कर उसकी फूली हुई चूत मारना चाहता हूँ पर क्या वह अपने बेटे का मोटा लंड अपनी चूत में लेकर चुदवायेगी. . गांधी जयंती कब मनाया जाता है
  3. कुशल ने टाइम वेस्ट ना करते हुए अपने लिप्स उसकी टाँगो के बीच मे से होते हुए उसकी चूत पर पहुँचा दिए. प्रीति ने अपनी टांगे और भी फैला दी जिससे कि कुशल को आसानी हो. उस दिन के बाद से हमने कंप्यूटर को अपने रूम में शिफ्ट कर लिया और रोज़ रात सोने से पहले हम बिल्कुल नंगे होकर मूवी देखते और मूवी देखते-देखते ही मुठ मारते।
  4. जुन्या नाण्यांची माहिती...प्रीती की तो आँखे बंद हो गयी उस एहसास से जब आराधना ने होले से अपने हाथ के दबाव से उसकी ब्रेस्ट को दबाया.. रश्मि- अरे मम्मी भैया जब अपना मोटा लंड अपने हाथो में लेकर हिला रहे थे तो वह तुम्हारा बारे में ही बोल-बोल कर मूठ मार रहे थे
  5. सरहद:आप यौंही हंसते मुस्कुराते अछी लगती हैं. संजीदा ना रहा करो ज़्यादा. उसकी इस बात ने जाने कहाँ से किरण के अंदर छुपे गम के तार को फिर से छेड़ दिया था. वो लेडी फ्रीज़ से वॉटर बॉटल निकालने लगती है. पंकज अभी तक हैरान था कि कितने मॉडर्न कपड़े पहने हुए है इस लेडी ने. और पंकज ने खुद आराधना को ट्रडीशनल क्लॉत पहन ने के लिए कहा.

साइकिल का आविष्कार किसने किया

अली:तुम सौच भी नही सकती मोना के आज तुम ने मुझे कितनी बड़ी खुशी दी है. मे वादा करता हूँ के तुम्हे कभी तन्हा नही छोड़ूँगा.

आराधना - अबे साली तेरे प्लान से कुच्छ भी नही हुआ. आज मॉर्निंग ही मैने ड्रेस पहनी और ईव्निंग मे डॅड देल्ही चले गये 15 डेज़ के लिए. मैं बहुत अपसेट हू. एक बात और है जो तुझे बता नही सकती. प्रीती- आप भी कुछ कम नहीं है दीदी,आपको तो देख कर ही लड़को का लंड खड़ा हो जाता होगा, काश आप लड़का ही होती तो आज तो में आपसे जी भर के चुदती दीदी

जुन्या नाण्यांची माहिती,उफफफफ्फ़.... मोम कहाँ बिजलिया गिरा रही हो. यू लुक्स वेरी सेक्सी.... कुशल अपनी मा के सामने बैठते हुए बोलता है.

मैं तो कब्से कह रही हूँ के ऑफीस में एक फ्रिड्ज रख लो कम से कम ठंडा पानी तो मिलेगा पीने को कहते हुए उसने फोन काट दिया.

इससे पहले की प्रीति कुच्छ समझ पाती, दोनो के होंठ अलग होते है और सिमरन उसकी टी-शर्ट उतार देती है. अब प्रीति के मस्त बूब्स बस उसकी ब्रा मे क़ैद थे, पॅडेड ब्रा मे उसके दोनो बूब्स और उपर हो रहे थे. अनएक्सपेक्टेड सिचुयेशन होने से प्रीति के बूब्स भी उपर नीचे हो रहे थे क्यूंकी उसकी साँसे तेज चल रही थी.आधार कार्ड से पैसे कैसे निकाले apps

मैं अपने हाथ को उसके सामने लाया और उसके लण्ड को पकड़ कर हिलाने लगा.. ताकि उससे तक़लीफ़ का अहसास कम से कम हो। उसके लण्ड को अपने हाथ से आगे-पीछे करते हुए मैंने एक झटका और मारा और मेरा लण्ड तकरीबन 4 इंच तक उसकी गाण्ड में दाखिल हो गया। पंकज थोड़ा सा बढ़ता है और आराधना की पुसी के करीब आकर रुक जाता है. आराधना की आँखे बंद थी लेकिन वो फील कर सकती थी कि पंकज उसकी तरफ बढ़ रहा है. पंकज थोड़ा सा आगे बढ़ता है और अपना हाथ उसकी फुल टाइट पुसी पे रख देता है.

अब आराधना और सिमरन दोनो चुप चाप उपर की ओर चल देती है. आराधना बहुत शांत थी, और धीमे धीमे कदमो मे उपर चलती जा रही थी. वो दोनो आराधना के रूम मे एंटर करते है और रूम के अंदर एंटर होते ही आराधना अपने रूम को बहुत पॉवर के साथ बंद कर देती है. धदमम्म्म

राज तबीयत से अपनी मम्मी की चूत मसल्ते हुए अपने मोटे लंड को उसकी गान्ड में पेलने लगता है और अपनी मम्मी के चुतड़ों के मोटे-मोटे पाटो कभी कस कर दबाता है कभी उन्हे अपने हाथो से थप्पड़ मारते हुए अपने लंड को खूब कस-कस कर अपनी मम्मी की गुदा में ठोकने लगता है और उसे बहुत मज़ा आने लगता है,जुन्या नाण्यांची माहिती अब मैं अपनी तीसरी उंगली भी ज़ुबैर की गाण्ड में दाखिल करना चाह रहा था। मैं जानता था कि इसकी तक़लीफ़ बहुत ज्यादा होगी। मैं डर रहा था कि कहीं वो चिल्लाना ना शुरू कर दे।

News