बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर

सेक्स सेक्सी सेक्स

सेक्स सेक्सी सेक्स, चाची ने मुझे चूम कर कहा. ठीक कहता है तू, बहुत बहादुर है. पर तेरी इतनी मस्त गांड में इन्हें फ्री में नहीं लेने दूंगी. इन्हें शुरुवात में ही उसकी भरपूर कीमत देनी पड़ेगी. जरूर उनके मन में कोई प्लान था पर मेरे बहुत पूछने पर भी चाचीजी ने अपने प्लान के बारे में नहीं बताया. पल रुक कर फिर अपना गदा जैसा मूसल लंड चूत में अंत तक ठोक दिया। जब उसकी चूत के मर्म तक गधे का लंड भर गया तो नजीबा की गाँड ऊपर की तरफ ढलक गयी।

आहहहहहह अशोक, प्लीज़ अब रहा नहीं जाता, प्लीज़ मुझे चोद डालो नहीं तो मैं अपने ही जिस्म की गर्मी में जल जाऊँगी, हाय राजा अब मत तड़पाओ। मेरा पेट लबालब भर गया था और वासना से मेरा सिर सनसना रहा था. मेरी हालत देख कर अब दोनों भाई मेरे ऊपर फ़िर चढ़ना चाहते थे, मैं भी यही चाहता था. पर अम्मा ने मना कर दिया. बहू को क्या वादा किया था रतन? चलो गांड मराओ उससे.

बसन्ती के दोनो स्तन बड़े कटीले लंगड़ा आम जैसे थे। निप्पल गुलाबी और छोटे-छोटे थे । एकदम अछूते कठोर और नुकिले। मदन ने एक स्तन को हल्के से थाम लिया। सेक्स सेक्सी सेक्स बीरजु : अरे दादा हमें भी नहाना है नदी किनारे माँ कपडे धो रही है हम तो सिर्फ गीतिका दीदी को बुलाने आये थे माँ पूछ रही थी।

पोट साफ होण्याचे उपाय

  1. मुझे मजे के साथ में गांड मराने को लेकर थोड़ा डर भी लग रहा था क्योंकि मुझे अपनी फटी हुई चूत याद आ जाती थी।
  2. जीजू अब बिना समय गंवाए मुझे अपनी बाँहों की गिरफ्त में लेकर बेताहाशा मेरे गालों को चूमने लगे.. मेरे होंठों को ऐसे चूस रहे थे.. जैसे कि होंठ ना हों.. कोई लेमनचूस की गोली हों। सेक्सी में नंगी
  3. और फिर गुड़िया ने मेरे एक हाथ को पकड़ कर चाची की फुली चुत पर रख कर दबा दिया और पहली बार मैंने अपनी चाची की मस्त फुली हुई चूत को पकड़ कर सहलाया, तभी गुडिया न हाथ आगे ले जाकर मेरे लंड को पकड़ कर उसकी खाल पीछे की और आगे से चाची के हाथ को पकड़ कर मेरे लंड को चाची के हाथ में दे दिया। धंस कर दब गयी तो साँस लेने के लिये नजीबा का मुँह और चौड़ा खुल गया और शाजिया की चूत से स्खलित पूरा कामरस नजीबा की हलक में बह गया। अगले ही क्षण शाजिया की गाँड में से ‘पट-पट करके बहुत ही तेज़ और तीखी गंध वला गरम हवा जा झोंका निकल कर सीधे नजीबा की नाक में समा गया।
  4. सेक्स सेक्सी सेक्स...राजेश: मे किसी को यू तड़प्ते नही देखना चाहता…मे मुंबई गया था 15 डेज़ के लिए…मे नही चाहता कि मेरी गैर-हज़ारी मे मेरी वाइफ किसी चीज़ (लंड) के लिए तडपे. नजीबा को फर्श पर चित्त पड़े देख कर शाजिया और भी जोर से हँसते हुए बोली, क्या हुआ...? मुझे तो लगा कि तू अब तक गधे का लंड अपनी सुलगती हुई बेसब्री-चूत में ले चुकी होगी... पर तू तो... खेर... ये ले व्हिस्की की बोतल... इसे पी कर और गर्मी आ जायेगी।
  5. कमरे में वापस आ कर, आंखो को बन्द कर बिस्तर पर लेट गई। मदन के बारे में सोचते ही उसके दिमाग में एक नंग्धड़ंग नवजवान लड़के की तसवीर उभर आती थी. जो किसी भरी पूरी जवान औरत के ऊपर चढ़ा हुआ होता। उसकी कल्पना में मदन एक नंगे मर्द के रुप में नजर आ रहा था। माया देवी बेचैनी से करवटे बदल रही थी। ऊममघघ कुत्ते का लंड गले में अटकने से नजीबा की साँस घुटने लगी। फिर जब कुत्ते ने अपना लंड बाहर खींचा तो नजीबा ने बिल्ली जैसे घुरघुराते हुए लंड के आरपर हर बहुमूल्य हिस्से को चूसा।

മലയാളം സെക്സ്സ് സിനിമയുടെ പേരുകള്

दोनो ने हाथ मिलाया अजय फिर से चम्पा के झोपड़े की ओर चल पड़ा ,शांत जंगल में बस झींगुरों की आवाजे आ रही थी वो दौड़ाता हुआ दूर निकल गया था ,अब वो बिल्कुल ही अकेला था और रात के अंधेरे में सरसराता जंगल ,लेकिन फिर भी उसे डर नही लग रहा था,बल्कि वो तो चम्पा से मिलने को रोमांचित हुआ जा रहा था,

मदन का खड़ा लण्ड अंडरवियर में एकदम से उभरा हुआ सीधा डंडे की शकल बना रहा था। उर्मिला देवी ने अपने हाथ को लण्ड की लंबाई पर फिराते हुए कहा, आपको यह कहानी कैसी लगी जरूर बताएगा।आपकी बहुत प्यारी चुदक्कड़ दोस्त मधु एक बार फिर आपको नमस्कार करती है।

सेक्स सेक्सी सेक्स,कुछ देर बाद गीतिका ने कहा भैया इधर आओ न, मै उठ कर उसकी तरफ चला गया और उसे देखा तो उसने मेरे हाथ पकड़ कर अपने मोटे मोटे दूध पर रख दिए और मै अपनी बहन के कसे हुए ठोस दूध को कस कस कर दबाने लगा, रात के १२ बज चुके थे गांव में सन्नाटा था और गीतिका अपने दूध दबवाते हुए मेरे लंड को खूब दबा दबा कर देख रही थी।

थोड़ी ही देर में उसने दो चुचियों को मसल-मसल कर और दो को चूस-चूस कर लाल कर दिया। चूची चूसवा कर लाजो एकदम गरम हो गई. अपने हाथ से अपनी चूत को रगड़ने लगी। मदन ने देखा तो मुस्कुरा दिया और बसन्ती को दिखाते हुए बोला,

मौका देखते ही मे देख लूँगा.................अब तुम जाओ...अपने हाथ धो लो....रश्मि और राज उठ कर जाने लगे...तभी राजेश उसके पास आया....कॉफी....???विलेज भाभी सेक्स

राज ने सिचुयेशन को देखते हुए कहा….घबराने की कोई बात नही है….तुम स्मृति को सम्भालो…मे अभी देखता हू…वो शर्ट पहना…और घर से निकल गया…….राज के जाने के बाद कमला और रश्मि ने रूम की तलासी ली …उसके बाद स्मृति को उठाने लगी……………………………………….. मुझे ऐसा लग रहा था कि यह आज मेरी चूचियों को काट कर ले जाएगा। कभी वह मेरे गाल चूसता.. तो कभी होंठ चूसता.. तो कभी चूचियों को भंभोड़ता।

घबरा क्यो रहे हो ,बलवीर मैं हमेशा से जानती हु और तुमसे मैं सिर्फ अपने जिस्म की प्यास ही बुझती थी लेकिन फिर भी तुम्हारे प्यार के कारण मेरे अंदर भी प्यार की लहरे उठानी शुरू हो गई मैं तुम्हे चाहती हु लेकिन अपने बेटे की तरह …

नजीबा को फर्श पर चित्त पड़े देख कर शाजिया और भी जोर से हँसते हुए बोली, क्या हुआ...? मुझे तो लगा कि तू अब तक गधे का लंड अपनी सुलगती हुई बेसब्री-चूत में ले चुकी होगी... पर तू तो... खेर... ये ले व्हिस्की की बोतल... इसे पी कर और गर्मी आ जायेगी।,सेक्स सेक्सी सेक्स कालू : अरे पागल मै तेरे कमर और पेट को अपने हांथो से सहारा देकर तुझे धीरे धीरे तैरना सिखाउंगा और तू डुबेगी भी नही।

News