एक मराठी अभिनेता रविंद्र

औरत का बलात्कार

औरत का बलात्कार, बस अगर मैं दो तीन महीने वहां नहीं गई तो वह मुझे मनाने आएगा, फिर मैं उसे सीधा कर दूंगी। बस दो तीन महीने तक मेरा नाटक चलने दो बाबू। कैसी हो ? कहां थी इतना अरसा ? इतने साल मेरे न्योते पर आना तो दूर, जवाब तक न दिया । इतने साल... नैवर माइन्ड । तुम फौरन यहां पहुंचो, फिर दिल से दिल की बातें होंगी ।

अन्दर पहुंचकर उसने दरवाजा बन्द कर लिया और फिर बाकायदा कमरे की तलाशी लेने में जुट गया। सबसे पहले उसने बेड की साइड ड्राअर ही खोलकर देखी—ड्राअर में वही किताब रखी थी। रेलिंग के सहारे घूमती हुई आशा कोहिनूर का अवलोकन करने लगी और इसमें शक नहीं कि उसकी खूबसूरती में डूबकर वह सब कुछ भूल गई—उन क्षणों में ठीक से अपना नाम तक याद नहीं रहा था उसे।

और मर्डर भी किस का ? खुद हमारे क्लायन्ट का । पहले फिगारो आइलैंड पर मिसेज नाडकर्णी का हुआ, अब मिस्टर देवसरे का हो गया । ऐसे तो आनन्द आनन्द एण्ड एसोसियेट्स का ऊंचा नाम.... औरत का बलात्कार मैंने चन्द्रावती की चिकनी कमर पर एक और किस किया और फिर मैंने चन्द्रावती की पूरी कमर पर किस करना शुरू कर दिया, और साथ-साथ में अपनी जीभ भी फेरता रहा।

ओप्पो कंपनी के मोबाइल

  1. कोहिनूर का जिक्र है जनाब, ये तो बड़ी नाइंसाफी है कि आप पूरा कोहिनूर ही डकार जाएं और मुझ गरीब को कुछ भी न मिले— मैं ऐसा नहीं होने दूंगा—आधी रोटी न सही, एक टुकड़ा तो इस कुत्ते के सामने भी डालना ही होगा हुजूर, वरना ये भूखा कुत्ता आप पर झपट पड़ेगा, आपको भी खाने नहीं देगा—ही....ही....ही!
  2. हां। खुद को फंसते देख नसीम बानो की हालत पागलों जैसी हो गई थी—एक बार नहीं हजार बार कहूंगी कि ये सुरेश का हत्यारा है, उसकी दौलत पर कब्जा करने के लिए इसने सुरेश की हत्या की और हमशक्ल होने का लाभ उठाकर सुरेश बन बैठा। बुला मोठा करण्यासाठी उपाय
  3. आयशा तो अहमदाबाद में है । मेरे से पहले शादी कर ली थी उसने लेकिन घर बसा नहीं बेचारी का । ट्रेजेडी हो गयी । उसने सबको लाउन्ज में मौजूद पाया । सब-इंस्पेक्टर फिगुएरा कोई चालीस साल का व्यक्ति था जिसके चेहरे पर उस घड़ी बड़े कठोर भाव थे । वो एक टेबल के करीब खड़ा था और उस पर फैली कोई दर्जन भर तस्वीरों का मुआयना कर रहा था ।
  4. औरत का बलात्कार...माथुर - करनानी बोला - कहना न होगा कि देवसरे के क्लब में आने से तुम्हारी वहां हाजिरी तो अपने आप ही लाजमी हो जायेगी । बहरहाल अब खुद वो भी अपनी रिपोर्ट पेश कर सकता था कि देवसरे अब बिल्कुल ठीक था और उसे किसी कि मुतवातर निगाहबीनी की जरुरत नहीं थी ।
  5. मेरी बुलबुलो । - वो उच्च स्वर में बोला - जरा इधर मेरी तरफ तवज्जो दो क्योंकि मेरे पास तुम्हारे लिये एक बहुत खास खबर है । तुम्हें ऐसा नहीं सोचना चाहिए—वह बेचारा तो सारी रात सेफ में खड़े-खड़े गुजार देता है, उसकी मौजूदगी में तुम उन अनजान लोगों के खतरे से बिल्कुल बाहर रहते हो, जो कोहिनूर के चक्कर में हैं।

डोळ्यांची नजर वाढवण्यासाठी उपाय

चूँकि नौ अदद बीवियाँ रखने के बावजूद भी काफ़ी शेर था इसलिए नौशेरवान कह लाता था….आज कल तो एक ही बीवी वाला भेड़ हो कर रहे जाता है….!

ढांप….रहमान साहब बुरा सा मुँह बना कर बोले….वो पोलीस के रेकॉर्ड पर भी आ जाएगा….फिंगर-प्रिंट्स का ख़याल रखना….! अचानक….ट्रॅन्समिट्रर से आवाज़ आई….मेरा अंदाज़ ग़लत रहा….वो शायद हंस की तरफ नही जा रहा….गाड़ी सीधी जा रही है….तुम भी पलट कर सीधे ही चले आओ….!

औरत का बलात्कार,और फिर जब मैने उसे कहा कि चलो तुम्हे क्लिनिक छोड़ आती हू तो उसने कहा के पैदल ही चली जाएगी….उसे रास्ते में कुछ खरीदना है….

मैंने सोचा था कि या तो वो अपने हथियार पहले ही चौकस कर चुका होगा या फिर उसके उस बाबत खामोश रहने की कोई वजह होगी । मेरा फर्ज अपने इतने मेहरबान मेजबान की मर्जी के मुताबिक चलना था या पुलिस की मर्जी के मुताबिक ?

यही है, सर, कि महाबोले की माया अपरम्‍पार है । जाबर का जोर कहीं भी चलता है इसलिये उसकी सलाहियात का कोई ओर छोर नहीं ।गुढीपाडवा शुभेच्छा फोटो

बैंड स्टैण्ड के करीब की एक टेबल पर चार व्यक्ति बैठे थे जिनमें से एक एकाएक मुंह बिगाड़कर बोला - साली फटे बांस की तरह गा रही है । अब मैं चन्द्रावती की चूत से बहते हुए रस को अपनी जीभ से चाटने लगा। मेरी जीभ ने चन्द्रावती की चूत में इतनी हलचल मचा दी थी। अब तो चन्द्रावती का इतना बुरा हाल हो रहा था की वो बार-बार अपने नितंबों को उछालकर सिसकियां भरे जा रही थी।

खून का निशान तक यहाँ ना मिलना चाहिए….जल्दी करो….मैं फाटक पर जा रहा हूँ….पोलीस इधर ही आ रही है….बाहर के लोग इस इमारत की नशानदेही कर देंगे….कयि फाइयर हुए थे….

झाड़ियों में छुपे क्यों बैठे थे । तुम मिस शशिबाला के सैक्रेट्री थे, यहां मौजूद तमाम लड़कियों के पुराने वाकिफ थे तो भीतर जाकर उनसे क्यों न मिले ?,औरत का बलात्कार हां, म्यूजियम में कोहिनूर नहीं, बल्कि सिर्फ उसकी परछाईं है— कोहिनूर का प्रतिबिम्ब मात्र-दर्शक उसी को देखते हैं और ये सोचकर खुश हो लेते हैं कि उन्होंने कोहिनूर को देख लिया है।

News