ইংলিশ এক্স

मारवाड़ी देसी चुदाई

मारवाड़ी देसी चुदाई, और तभी मेरे मोबाइल पर अकरम की काल आती है की आधे घंटे में क्लब के मेनगेट पे आ जाओ। मैं उन्हें ओके बोलकर काल कट कर देती हूँ और मैं मोम के पास जाती हूँ और कहती हूँ- मोम, काल आ गई है हमें आधे घंटे में पार्टी में पहुँचना है… मोम सिसकारी निकालते हुए मेरे सिर पर हाथ फेर रही थी- आह्ह… सस्स्स… ह्म्म… मेरी जीभ के कारण मोम करवट लेने लगी। पर मैं तो मोम के क्राउच से चिपक ही गई थी। मोम अपनी चूचियां दबा रही थी और खुद ही चिकोटी मार रही थी।

मैं उनको ऐसे देखने का नाटक करने लगी की ये सब उनकी गलती है, उनकी गाण्ड देखकर पागल हुए भाई ने मेरी गाण्ड पकड़कर मेरी चूत लगभग फाड़ ही दी। ये सब उनकी ही गलती है, इस तरह की बातों को अपने चेहरे पे लाते हुए मैं अपनी मोम की आँखों में देखने लगी। पर मोम के चेहरे पर कोई बात नहीं दिख रही थी। तो हमने एक नकली स्टोरी सुना दी। लेकिन मैं और मोम कल रात की चुदाई याद करने लगे। भाई जब काल रिसीव करने अपने रूम में गया तो हम बस कल की बातें करने लगे।

सो मोम मुझे दिखी नहीं तो मैंने उसको किस करने दिया। फिर तो उसने मुझे छोड़ा ही नहीं। इसलिये, मैं उसको इसी तरह रूम में ले आई और पीछे से दरवाजा बंद कर दिया। मैंने उस टाइम नोटिस नहीं किया की रूम की लाइट पहले से ओन थी। उसने मुझे किस करते हुए बंद दरवाजे पे टिका दिया। मारवाड़ी देसी चुदाई डॉली- बीबी, और सन्नी को बेतहाशा चूमने लगती है और सन्नी उसको अपनी गोद मे उठा लेता है और डॉली उससे अपनी दोनो टाँगो को उसकी कमर मे लपेट कर चिपक जाती है,

हिंदी में सेक्सी कहानियां

  1. पर भाई ने उसको ऐसे जाने नहीं दिया। पहले तो वो नहाकर तैयार हुई फिर जब जाने लगी तो भाई ने उसको पकड़ा और झुका के उसकी चूत में लण्ड पेल दिया। ट्रिशा पहले तो ना-नुकुर करने लगी पर उसने भाई से खुद को छुड़ाने की रत्ती भर कोशिस नहीं की, और इधर भाई ने तब तक उसको नहीं छोड़ा जब तक उसकी चूत में माल ना भर जाए।
  2. उसकी टाँगें फैलाई और बिंदु झट से अपनी शर्म छोड़ ..हम दोनो के बगल आ गयी और सिंधु की कमीज़ उसके सीने से उपर कर उसकी चूचियों को हल्के हल्के मसल्लना शुरू कर दिया ... लोकल बीएफ सेक्सी
  3. भाई मैंने उसे कहा तुम यह सब बकवास कर रही हो मेरी बहन इतना तुम से नहीं बोल सकती। तो ज़ुबैदा आगे कहती है ठीक है आने दो तुम्हारी बहन को फिर तुम्हें खुद ही उसके सामने करवा दूंगी तो पूछ लेना और मैं बकवास कर रही हूं या सच बोल रही हूँ। मैने बाइक रोकी दीदी को अपनी जगह बिठाया और खुद दीदी के पीछे बैठ गया. मैने दीदी के हिप्स को उँचा किया दीदी की शलवार नीचे की और अपना लंड बाहर निकाल कर थूक लगाया और दीदी को उस पे बिठा दिया.
  4. मारवाड़ी देसी चुदाई...मौसी ने पूछा मुझे मालूम है कि तूने अपने मर्द को छोड़ दिया है तो साली तू रात में आजकल क्या करती है, और किसी से चुदवाती नहीं क्या? तेरे जैसी चुदैल को तो बहुत लौडे मिल जाएँगे गाँव में मैं अब उसकी आँखों में लस्ट फीलिंग से देखती रही, अपने होंठों को काटा, चाटा, जो बात ज़ुबान नहीं कह पाई, वो आँखों ने आखिर मनवा ही ली।
  5. मा ने अपने हाथ मेरी पीठ पर रखते हुए मुझे अपनी ओर खिचा और वो भी मेरे होंठ चूसने लगी ..अपने बेटे के होंठ ...मा बेटा दोनो एक दूसरे का प्यार अपने में समेट लेने को बेताब थे ..तड़प रहे थे ... मैं- तो क्या हुआ मोम? हम औरतें हैं, हमारी भी कुछ जरूरतें होती हैं, और क्या हुआ अगर हमने कुछ ऐसा कर लिया तो? लाइफ ही तो एंजाय कर रहे हैं हम, अब आप चुप हो जाओ…

తెలుగు సినిమాలు 2018

इधर मैंने अपने हाथ को चूत पे लेजाकर पीछे से गर्म और सख्त लण्ड को अपनी चूत के बीच कर दिया, वो मेरी लेफ्ट चूची के निपल को हल्के से छेड़ता रहा और मैं हल्के से कसमसाती रही, जिसके कारण अपने लेफ्ट हैंड से अपनी चूत से सटे लण्ड की मसाज करने लग गई।

शोभा: आदमी की तरफ देखते हुए जबरन अपने होंठो पर मुस्कान लाते हुए) नमस्ते मोहन भाई शाब आप बड़े दिनो बाद आए मेरा हाथ एक बार को तो मोम के मोटे मोटे खरबूजे देख कर अपने आप लंड पर चला गया जिसे मोम ने भी देख लिया फिर

मारवाड़ी देसी चुदाई,डॉली- सीसीया कर आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह, ओह्ह्ह्ह सन्नी तुझे जो करना है कर लेना मैं तुझे नही रोकूंगी बस मुझे तू इसी तरह प्यार करता रहना मुझे कभी छोड़ कर मत जाना मैं तेरे बिना मर जाउन्गि, आइ लव यू सन्नी

कविता- सोनू अभी नही रात को अच्छे से बताना कि कैसे तुमने मोम को पापा से चुद्ते हुए देखा था अभी कोई दरवाजे पर

मौसी के यहाँ मैं दो महने रहा और बहुत कुकर्म किए कुछ दिन बाद की बात है मौसाजी अभी वापस नहीं आए थे और मैं मौसी के साथ अकेला ही रह रहा था हमारी चुदाई दिन रात जोरों से चल रही थीசெக்ஸ் போட்டோஸ்

मैं- घर जाने की क्या जरूरत है? मजे कर ना यहीं पे पूरी रात भर… अपने हाथों को सीने पे रखते हुए मैंने अपना गुस्सा जाहिर किया। कुछ देर बाद जब डॉली को होश आता है तो वह अपनी आँखे धीरे से खोल कर सन्नी को देखती है और सन्नी को अपनी ओर गौर से मुस्कुराता देखता पा कर एक दम से शर्मा जाती है और अपने सर को दूसरी और घुमा लेती है पर अपनी मुस्कुराहट को नही छुपा पाती है,

मैं सन्न था...कोई दूसरी औरत होती , मुझे ज़रूर दो तमाचे लगाती और शायद फिर दूबारा मुझ से मिलने की जुर्रत नहीं करती ..पर शन्नो..उफफफफ्फ़ ..ये तो किसी और ही मिट्टी की बनी थी ....

और मैने भी साथ ही साथ अपना टॉप भी उतार दिया ....सिंधु मेरी गोद में ही दोनो टाँगें मेरे कमर से जकड़े खाट पर कर दिया था ..मेरी टाँगें खाट से नीचे लटक रही थी ...,मारवाड़ी देसी चुदाई वैसे बात सिंधु की बिल्कुल सही थी ...अब धीरे धीरे बिंदु भी काफ़ी खुलती जा रही थी ..और घर में एक बड़ा ही मस्त माहौल होता जा रहा था ....

News