देसी सेक्सी विडीयो

सेक्स बहन के साथ

सेक्स बहन के साथ, ज़ाहिद ने ज्यों ही घर से बाहर निकल कर अपनी मोटर साइकल को किक लगा कर स्टार्ट किया. तो उसी वकत उस की 30 साला छोटी बेहन शाज़िया ख़ानम अपने जिस्म के गिर्द चादर लपेटे एक दम घर के अंदर से दौड़ती हुई बाहर आई और एक जंप लगा कर अपने भाई के पीछे मोटर साइकल पर बैठ गई. शाज़िया की चुदाई करते हुए ज़ाहिद को अब काफ़ी देर हो चुकी थी. और इस दौरान शाज़िया अपने भाई के लंड पर दो दफ़ा बार फारिग हो चुकी थी. मगर ज़ाहिद ने अभी तक एक दफ़ा भी अपने लंड का पानी नही छोड़ा था.

मैं भी क्या करूं इन को मसलने के लिए हर वक्त कोई ना कोई तैयार रहता है। लेकिन कमर तो मेरी पतली है ना देखो कितनी पतली है । मुंह बनाकर अपने आप से कहने लगी। पूजा उपासना से बोली दीदी आप जो तैयारियां कर रही हो पापा जी को कम से कम पता तो होना चाहिए कि जिनकी किस्मत खुलने वाली है।

कुछ खास नही, में आप की बेगम को अपने साथ, अपने घर ले जाना चाह रही थी,मगर अब आप की घर मौजूदगी में शायद आप की ज़ोज़ा मोह्तर्मा अब मेरे साथ जाने पसंद नही करेंगी शाज़िया की सहेली ने एक शरारती मुस्कुराहट के साथ ज़ाहिद से कहा. सेक्स बहन के साथ मेरी बच्ची मेरी ख्वाहिश है कि आज के बाद तुम मुझे अपनी माँ नही बल्कि नीलोफर की तरह अपनी सहेली समझो बेटी रज़िया बीबी ने जब शाज़िया के मुँह से कोई जवाब नही सुना तो वो फिर बोली.

मोराची माहिती इंग्लिश मधून

  1. टॉप में से उसकी चूची इतने फंसे हुए दिख रहे थे कि उसके चुचों की निप्पल टॉप में से साफ पता की जा सकती थी। और जींस तो उसकी गांड पर और उसकी जांघों पर ऐसी चिपक चिपक गई थी जैसे अभी कुछ समय पहले लैगिंग चिपकी हुई थी। और इस बेहद टाइट जींस को शालिनी के नितंब फाड़ने को बेताब थे।
  2. Dosto comments karke batate rahe ki story कैसी चल रही है , आपके साथ बने रहने के अहसास से मेरी कलम और भी अच्छी चलती है । सैराट फुल मूवी मराठी
  3. मगर इस के साथ ही ना जाने ज़ाहिद को क्या सूझी. कि शाज़िया को चोदते चोदते ज़ाहिद अपनी बहन के भारी वजूद को अपनी बाहों में उठाए हुए बिस्तर से उतर कर फर्श पर खड़ा हो गया. बोल जो मैं पूछ रही हूं यही चाहता ना तू कि तेरी बेटी नंगी तेरे लोड़े के नीचे आ जाए और तू अपनी बेटी की चूत में अपना लंड भर सके ।
  4. सेक्स बहन के साथ...डरो मत,में वो ही हूँ जिस के लंड के लिए तुम्हारी चूत को सबर नही हो रहा था. इसीलिए एसएचओ से बहाना कर के,तुम्हारी फुद्दि की तसल्ली करने जल्दी घर लौट आया हूँ आज,मेरी भिलो रानी ज़ाहिद ने पीछे से अपनी अम्मी के मोटे मम्मो को अपने हाथों में दबाते हुए कहा. इसीलिए उस ने अपने हाथों को ज़ाहिद की कमर के गिर्द जकड कर अपने मुँह को मज़बूती से अपने बेटे के पेट पर जमा लिया.
  5. ज़ाहिद अपनी बहन की गान्ड की भारी पहाड़ियों को थामे हुए अपनी बहन की चूत में झटके पर झटके मारे जा रहा था. सोमनाथ उपासना के पीछे धर्मवीर के साथ खड़ा हो गया। और धर्मवीर वहां से पूजा की पीछे खड़ा हो गया और दोनों ने उनकी कमर पर सहलाना शुरू कर दिया

मंगेश पाडगावकर कविता

हाईईईईई मेरे बेटे ने अपनी दुल्हन बहन के लिए अपने कमरे को कितने प्यार से सजाया है कमरे की सजावट देख कर बे इकतियार रज़िया बीबी के दिल में ये बात आई.

ये पढ़कर धरमवीर को समझते देर ना लगी कि जहां आरती जिम जाती है वहां पर उसे कोई पसंद करने लगा है और वो direct नहीं कह पाया है इसलिए उसने ऐसा किया है । धरमवीर ने वो कागज़ अपनी जेब में रख लिया । रज़िया बीबी इस वक्त ना सिर्फ़ अपनी साँस रोके अपने बच्चो को देखने में मसरूफ़ थी. बल्कि साथ ही साथ वो एक हाथ से अपने बड़े मम्मे को अपने ही हाथ में ले के मसल रही थी.

सेक्स बहन के साथ,क्या डॉक्टर साहिबा ने क़रून के ख़ज़ाने का पता बता दिया है, जो इतना मुस्करा रही है आप ज़ाहिद अपनी अम्मी के चेहरे पर एक अजीब किस्म की खुशी और मुस्कुराहट को देख कर बेताबी से पूछने लगा.

ज़ाहिद भी अपनी बहन का जवाब सुन कर मस्त हो गया. और अपनी बहन की कमीज़ और उस के ब्रेजियर को ऊपर उठा कर अपनी बहन के मोटे और भारी मम्मो को अपनी नज़रों के सामने नगा करते हुए बोला.

अब जैसे जैसे रज़िया बीबी किचन में काम के दौरान मूव करती इधर उधर होती. पीछे से उस की गान्ड की मोटी पहाड़ियाँ भी उसी तरह थल थल करती हुई उपर उछल हो रही थी.बेटी की चूत चुदाई

शाज़िया के लिए अपनी गान्ड पर किसी की ज़ुबान फेरवाने का ये पहला मोका था. इसीलिए अपने भाई के मुँह से ये अनोखा स्वाद हासिल करते ही शाज़िया तो मज़े से बे हाल होने लगी. यूँ ज़ाहिद के साथ साथ जमशेद ने भी अपना सुहाग वाला पानी अपनी बहन नीलोफर के जिस्म में डाल कर उसे अपनी बीवी का दर्जा दे दिया.

उपासना ने पूरे लंड को पहले अपनी नाक से सूंघा लंबी लंबी सांसे लेकर और फिर लंड से अपना चेहरा दूर खींच लिया ।

तो प्रिय पाठकों क्या ये सही था । इस कहानी को अब मैं इतनी hit लिखूंगा की एक दिन उसकी भी नजर पड़ेगी और वो भी पढ़ेगा और उसके लिए नीचे कुछ लाइन्स लिखी है मैंने कि -,सेक्स बहन के साथ उपासना यह सुनकर शर्म से लाल हो गई और उसने अपनी आंखें बंद कर ली। अब वह पूजा की बाहों में लेटी हुई प्रतीत हो रही थी ।

News